जब सिंड्रेला ने खुद को बचाया!

By: Himani Bakhda

हर सिंड्रेला को राजकुमार की आवश्यकता नहीं होती। उसे बस एक सपने और एक दिल की ज़रूरत है जो कभी हार नहीं माने! तो प्रस्तुत है सिंड्रेला की कहानी एक टीनबुक तड़के के साथ।

जब सिंड्रेला ने खुद को बचाया!

रुक जाना नहीं 

एक बार सिंड्रेला नाम की एक लड़की थी। उसने अपने माता-पिता को बहुत कम उम्र में खो दिया था। वह अपनी सौतेली माँ लेडी क्रुएला और दो सौतेली बहनों उर्सुला और गोथेल के साथ रहती थी। लेडी क्रुएला बिल्कुल अपने नाम की तरह थी। वह मतलबी, दुष्ट और क्रूर था। वो अपनी सौतेली बेटी से बिल्कुल प्यार नहीं करती थी और उसके साथ बहुत बुरा बर्ताव करती थी।

सिंड्रेला की सौतेली बहनें सुस्त और दुष्ट थीं। वो दोनों जानबूझ कर सिंड्रेला को अपनी मम्मी के सामने फँसाने की योजनाएँ बनाती थे, घर का सारा काम उससे कराया जाता था। और उसे बरसाती में बस एक छोटा सा कमरा दिया गया था। 

उसका जीवन संघर्षों से भरा था, फिर भी उसने कभी हार नहीं मानी। उसकी माँ ने उसे समझाया था कि मुश्किलों का सामना हमेशा दया और साहस से करना चाहिए।

काम और कमाई 

अपनी माँ की तरह उसे सिलाई और बुनाई का भी शौक था। उसने अपनी माँ का कुछ पुराना सामान उठाया और उनसे सुंदर लाल, गुलाबी, पीले, नीले और हरे रंग के कढ़ाई वाले स्कार्फ़ बनाने शुरू कर दिए। फिर जब वो किसी काम से बाज़ार गई तो वहाँ महिलाओं को अपने स्कार्फ़ बेचे।

वह बाजार के एक कोने में खड़ी हुई और ज़ोर  से चिल्लाई, “सात पैसे में स्कार्फ़ खरीदो। आइए! आइए! बहुत सारे स्कार्फ़। लाल, गुलाबी, पीला, नीला और हरा। बाज़ार के सबसे अच्छे स्कार्फ़! "

जल्द ही महिलाओं का एक झुंड इकट्ठा हो गया और स्कार्फ़ खरीदने लगा।

“मुझे वो नीला और गुलाबी वाला देना। वो कितना सुंदर है", एक महिला ने कहा।

"मुझे वो फूलों वाला देना। तुमने उसका रेट क्या बताया?" दूसरी महिला ने पूछा।

जल्द ही एक घंटे में उसने अपने सारे स्कार्फ़ बेच दिए और अपनी सारी मेहनत की कमाई लेकर घर वापस आ गई।

रात-दिन मेहनत 

वापस जाते समय उसने कुछ रंगीन कपड़े, कुछ चमकदार बटन और एक नई सुई खरीदी। उसने घर आकर ये सब एक ब्रेड की टोकरी में छुपा दिया ताकि लेडी क्रुएला को इसके बारे में पता न चले। अब वह पूरे दिन घर का काम करती थी और पूरी रात मोमबत्ती की रोशनी में स्वेटर बुनती थी। उसने कड़ी मेहनत की।

कुछ दिनों के बाद जब वह फिर से बाजार गई, तो उसने चुपके से अपने स्वेटर अपने साथ टोकरी में रख लिए। वह उसी कोने पर खड़ी थी और ज़ोर से चिल्लाई, “पंद्रह पैसे के लिए स्वेटर खरीदो। आइए! आइए! बहुत सारे स्वेटर। लाल, गुलाबी, पीला, नीला और हरा। बाज़ार के सबसे अच्छे स्वेटर!"

जल्द ही महिलाओं का एक झुंड आसपास इकट्ठा हो गया और उन्होंने स्वेटर खरीदना शुरू कर दिया।

“ये सभी कितने अच्छे हैं! क्या तुम मेरे लिए एक पीला स्वेटर पैक करदोगी?" एक महिला ने पूछा।

"वाह! ये हरे स्वेटर पर फूल कितने सुंदर बनाए हैं, मुझे भी एक खरीदना है" दूसरे ने कहा।

इस बार एक घंटे से भी कम समय में उसके सारे स्वेटर बिक गए। उन पैसों से उसने स्वेटर, स्कार्फ़, दस्ताने और हैट बनाने के लिए और भी सामान खरीद लिया। । वे सभी जल्दी से बिक गए और उनसे कमाए हुए पैसों से इस बार एक सिलाई मशीन ले ली।

वह उसे अपने कमरे में ले गई और जब कोई घर पर नहीं था तो उसे लकड़ी के एक बक्से में छुपा दिया। अब वह सुंदर गाउन, कपड़े और चोगा बनाती थी और उन्हें बेचती थी। जल्द शहर में उसके चर्चे होने लगे।

सपने चकनाचूर

लेकिन एक दिन लेडी क्रुएला को सिंड्रेला के काम के बारे में पता चल गया। उसने रात को सिंड्रेला के कमरे के बाहर से झाँका और उसे सिलाई करते देखा। वह तुरंत अंदर आई और उसकी सिलाई मशीन उठाकर उसे फर्श पर फेंक दिया। मशीन उसके सपनों की तरह टुकड़ों में बिखर गई।

सिंड्रेला रात भर रोती रही।

अगले दिन सुबह राजा के महल के एक कप्तान ने उनके घर का दौरा किया। उन्होंने आकर सिंड्रेला के बारे में पूछा । लेडी क्रुएला ने झूठ बोला और कहा, “प्रिय महोदय, आप गलत हैं। सिंड्रेला नाम से कोई भी यहाँ नहीं रहता है”।

"हमें यकीन है कि हमारे पास सही पता है।"

तभी सिंड्रेला अपने कमरे से बाहर आई और उसने पूरे साहस से कहा, "मैं सिंड्रेला हूँ।"

कप्तान ने कहा, "सिंड्रेला आपको राजा द्वारा बुलाया गया है। उन्होंने आपके बनाए हुए कपड़ों के बारे में सुना है और वो आपसे मिलना चाहते हैं।”

शाही पोशाक बनाने वाली

सिंड्रेला कप्तान के साथ राजा से मिलने चली गई। राजा और रानी ने उसके द्वारा बनाए गए सभी खूबसूरत गाउन और लहंगे देखे। वे इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने सिंड्रेला को अपना "रॉयल ड्रेस मेकर" घोषित कर दिया।

उस दिन के बाद से, सिंड्रेला महल में एक सुंदर बड़े कमरे में रहती है और राज घराने के लिए कपड़े बनाती है। सिंड्रेला ने सीखा कि यदि आप कड़ी मेहनत करते हैं और सभी बाधाओं के खिलाफ साहस दिखाते हैं तो आप अपने सपनों को ज़रूर पूरा करेंगे।

शाही पोशाक बनाने वालीक्या आप हमारे लिए #TwistInTheTale लिखना चाहते हैं? अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में भेजें! याद रखें, कोई भी व्यक्तिगत जानकारी कमेंट बॉक्स में न डालें।

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
1