प्रिय माता-पिता, अभिभावक एवं शिक्षकगण,

टीनबुक पर आप स्वागत हैं।

टीनबुक एक व्यापक कार्यक्रम हैं जिसके द्वारा हम किशोरों को सुखी, स्वस्थ और आत्मविश्वास से भरपूर जीवन जीने में मदद करेंगे।

टीनबुक का प्राथमिक लक्ष्य किशोरों में ज्ञान, कौशल और व्यवहार निर्माण करना है जो उन्हें वयस्क जीवन के लिए सक्षम बनाएंगे, ताकि वो अपने जीवन की दिशा स्वयं नियंत्रित कर सकें और सोच समझ कर सही निर्णय ले सकें।

ज़रा उन कुछ पलों के बारे में सोचें जब आपके बच्चे को हकलाने के लिए चिढ़ाया गया था या जब आपकी कक्षा के बच्चे को बाकि बच्चों के साथ मेलजोल करने में मुश्किल आयी थी; या जब वह स्कूल में किसी घटना के कारण दुखी होकर घर लौटी/ लौटा। हो सकता है कि उसका दोस्त के साथ कोई झगड़ा हुआ हो या उसको शरीर और रंग के लिए चिढ़ाया गया हो?

हम जानते हैं कि हमारे बच्चों के जीवन में ऐसे बहुत सारे अच्छे और बुरे अनुभव होंगे। माता-पिता, शिक्षकों और विश्वसनीय वयस्कों के रूप में, हमें इन स्थितियों को स्वीकार करने, समझने और इनसे निपटने के लिए अपने बच्चों को सक्षम बनाने की आवश्यकता है। सम्भवतः आप पहले से ही इन स्थितियों में अपने बच्चे के साथ इन मुद्दों के बारे में बातें कर रहे हैं और उनकी मदद भी कर रहे हैं, लेकिन शायद इस दौरान आपको कुछ संसाधनों या सलाह की ज़रूरत पड़े, जिसे आप सीखने में रुचि रखते हैं।

तथ्यपूर्ण और सुरक्षित वेबसाइट 

इसलिए हम आपके लिए लाये है - https://teenbook.in/hi/ - यह विस्तृत वेबसाइट किशोरों, अभिभावकों और शिक्षकों के लिए भारत का पहला व्यापक और तथ्यपूर्ण डिजिटल संसाधन केंद्र है। यहाँ आप वो सारी जानकारी ले सकते हैं जो जीवन के हर पहलु के कौशल को सीखने में और बच्चों को अधिक सकारात्मक दृष्टिकोण देने में मदद कर सकती हैं। जैसे की अपनी खुद की पहचान को समझना, स्वस्थ विकल्पों का चुनाव करना, भावनाओं को प्रबंधित करना, संबंधों में सहमति की महत्वता को समझना, आत्मविश्वास और ज़िम्मेदारी से निर्णय लेना।

वर्कशॉप और कोर्सेज 

हम किशोरों, अभिभावकों और शिक्षकों की मदद के लिए वर्कशॉप और कोर्सेज भी प्रस्तुत करेंगे:

  1. शिक्षकों के लिये  - किशोरों को सामाजिक, भावनात्मक और व्यवहारिक शिक्षा कैसे प्रदान करें? इन्हे अपने रोज़ाना के पाठ्यक्रम के साथ सम्मिलत करें? 
  2. अभिभावकों के लिये -  बच्चों में विश्वास, आत्मसम्मान कैसे बढ़ाये और व्यावहारिक कौशल घर पर कैसे प्रदान करें? बच्चों के साथ कठिन विषयो पर बातचीत कैसे करें?
  3. किशोर और किशोर जीवन के सभी पहलुओं में दक्षता कैसे विकसित करें और भविष्य में आने वाले दबावों से निपटने के लिए कैसे क्षमता विकसित करें? 

हमारी सेवाओं के बारे में अधिक जानकारी के लिए, कृपया यहाँ क्लिक करें।

टीनबुक - सही उम्र 

अभिभावक अक्सर हमसे पूछते हैं कि बच्चों को टीनबुक से परिचित कराने की सही उम्र क्या है। 

टीनबुक के संसाधन 13+ रीडर्स के लिए विकसित किए गए हैं, पर हम बच्चों की अलग-अलग और बढ़ती क्षमताओं में विश्वास करते हैं। इसका मतलब यह है कि किसी भी उम्र में कुछ बच्चे दूसरों की तुलना में अधिक परिपक्व और अनुभवी होते हैं। इसलिए जहां कुछ बच्चें टीनबुक के लिए 10 वर्ष की उम्र में तैयार होंगे, वही अन्य बच्चेें टीनबुक पर किशोरावस्था के बाद के सालों में आना पसंद करेंगे। 

व्यक्तिगत परिस्थितियाँ और पसंद/नापसंद टीनबुक के प्रति प्रत्येक किशोर की तत्परता और लगाव को प्रभावित करेंगे।

10-12 वर्ष के युवा किशोरों के माता-पिता और शिक्षक सामग्री को स्वयं पढ़ कर अपने बच्चों के साथ उनकी की उम्र और समझ के हिसाब, से साझा कर सकते हैं।

हमसे जुड़िये 

टीनबुक में, हम आपको एक अभिभावक के रूप में, एक शिक्षक के रूप में और एक विश्वसनीय वयस्क के रूप में योगदान करने के लिए आमंत्रित करते हैं। अपने प्रश्नों, प्रतिक्रिया, चिंताओं और परिज्ञान को साझा करने के लिए टीनबुक समुदाय से जुड़ें। और अगर आप टीनबुक के लिए लिखने के इच्छुक हैं, तो हमें यहां ईमेल करें - info@teenbook.in

This site uses cookies. By continuing to browse the site you are agreeing to our use of cookies Find out more here