हमारे बारे में

परिचय 

टीनबुक किशोरों के लिए भारत का पहला व्यापक जीवन कौशल कार्यक्रम है। टीनबुक का प्राथमिक लक्ष्य किशोरों में ज्ञान, कौशल और व्यवहार निर्माण करना है जो उन्हें व्यस्क जीवन के लिए सक्षम बनाएंगे, ताकि वो अपने जीवन की दिशा स्वयं नियंत्रित कर सकें और अपने सुविज्ञ निर्णय ले सकें।

हम क्या करते हैं

किशोरियों के लिए संसाधन विकसित करना

हम किशोरों से जुड़े मुद्दों और विषयों पर मजेदार, आकर्षक और विज्ञान पर आधारित जानकारी प्रदान करते हैं। हिंदी और अंग्रेजी में टीनबुक वेबसाइट हमारी संसाधन केंद्र हैं, जिस पर जीवन कौशल और किशोरावस्था शिक्षा पर व्यापक जानकारी है। इन विषयों पर हिंदी में उपलब्ध सबसे बड़ा संसाधन टीनबुक वेबसाइट पर हैं।

किशोरों के साथ प्रासंगिक मुद्दों पर ज्ञान साझा करने के लिए टीनबुक वेबसाइट पर कई सारे फॉर्मेट अपनाये गए हैं जैसे की जिज्ञासा कॉलम, सलाह कॉलम, व्यक्तिगत कहानियां और डायरीनुमा ब्लॉग।

किशोरावस्था के मुद्दों पर अभिभावकों, शिक्षकों और कम्युनिटी से जुड़ना 

हम फेसबुक पर अभिभावकों, शिक्षकों से जुड़ते हैं ताकि उन्हें किशोर बच्चों के मुद्दों को समझने में मदद मिल सके और उन्हें उन मुद्दों को बेहतर ढंग से संभालने के लिए लैस किया जा सके। उदाहरण के लिए, हम अभिभावकों को यह समझने में मदद करते हैं कि सेक्स शिक्षा जैसी कठिन बातचीत को कैसे संभालना है? टीनबुक इंस्टाग्राम अकाउंट पर हम किशोरों के साथ उन मुद्दों और विषयों पर जुड़ते हैं, जो उनके लिए मायने रखते हैं और साथ ही साथ बहुत सारे मज़े के लिए भी!  हमारे ट्विटर अकाउंट पर, हम किशोरों को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर समुदायों के साथ जुड़ते हैं।

शिक्षकों और स्कूलों के लिए संसाधन 

टीनबुक अभिभावकों, शिक्षकों और किशोरों के लिए को सामाजिक-भावनात्मक और जीवन कौशल (सोशल-इमोशनल और लाइफ स्किल्स लर्निंग) के वर्कशॉप्स और कोर्सेज भी आयोजित करता है। कृपया हमारे कार्यक्रमों के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमारी सेवाएं पृष्ठ देखें।                       

लीडरशिप 

टीनबुक को दो माओं ने लांच किया हैं, प्रसिद्ध लिंग अधिकार कार्यकर्ता - वीथिका यादव - और  बीबीसी के साथ 12 साल तक संपादक रह चुकी हैं - आरती शुक्ला।  

डेवलपमेंट कंसोर्शियम की सह-संस्थापक और  लव मैटर्स की कंट्री हेड विथिका यादव एक लोकप्रिय मानवाधिकार कार्यकर्ता हैं, जिन्होंने मानव तस्करी, दासता, लैंगिक अधिकार और यौन,प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकारों (SRHR) पर काम किया है।

वह एम्स्टर्डम में टीएचएनके स्कूल ऑफ क्रिएटिव लीडरशिप की पूर्व छात्रा हैं। वह मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं। 2012 में यूएसए में विदेश नीति में डिप्लोमैटिक कूरियर और यंग प्रोफेशनल्स द्वारा उन्हें दुनिया के टॉप 99 अंडर 33 यंग फॉरेन पालिसी  से सम्मानित किया गया था। 2007 में उन्हें एटलस कॉर्प्स फेलोशिप  से सम्मानित किया गया। 

इन वर्षों में उन्होंने United Nations office on drugs and crime, BBC World Service Trust, Free the Slaves और MTV EXIT जैसे बड़े संस्थाओं के लिए काम किया है। 

आरती एक पेशेवर पत्रकार हैं और दिल्ली विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में स्नातक हैं। उनकी मीडिया में 17 वर्ष का अनुभव हैं, जिनमे से 12 वर्ष वह बीबीसी में एशिया एडिटर के रूप में कार्यरत थी। बीबीसी में शामिल होने से पहले, आरती ने भारत के सबसे अधिक बिकने वाले अंग्रेजी दैनिक द टाइम्स ऑफ़ इंडिया और दो अन्य राष्ट्रीय प्रकाशनों - द इंडियन एक्सप्रेस और इंडिया टुडे के साथ काम किया।

ब्रिस्टल विश्वविद्यालय से अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में मास्टर डिग्री हासिल करने के लिए आरती ने प्रतिष्ठित DFID कॉमनवेल्थ स्कॉलरशिप जीती।

हमारे प्रायोजक 

टीनबुक, डेवलपमेंट कंसोर्टियम की परियोजना है। डेवलपमेंट कंसोर्टियम एक सामाजिक संस्थान हैं जो की बच्चों, महिलाओं और कमजोर समुदायों के साथ गरीबी, असमानता, दुर्व्यवहार और अन्याय को दूर करने के क्षेत्र में कार्यरत हैं।

टीनबुक को द डेविड और ल्यूसिल पैकर्ड फाउंडेशन और द बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन का समर्थन प्राप्त है।

This site uses cookies. By continuing to browse the site you are agreeing to our use of cookies Find out more here