header image

संस्थापक माँओं का सन्देश

नमस्कार! टीनबुक पर आपका स्वागत हैं!

हम हैं आरती और वीथिका, दो महिलायें जो की मीडिया और विकास क्षेत्र में पिछले 18 साल से काम कर रहे हैं। हम जूनून से भरी वो माँ भी हैं जो की कहानी कहने और सुनाने की कला, रचनात्मकता और अनुभव का इस्तेमाल करते हुए एक बेहतर और स्वस्थ समाज बनाने की कल्पना करती हैं। हमारे प्रियजन आमतौर पर हमारा वर्णन ‘चॉकलेट और मिर्च’ का उधारण देकर करते हैं। दो बहुत ही अलग स्वाद वाली चीज़ें लेकिन जब मेल हो दोनों का तो होता है अनूठा और शानदार! 

अगर हममें से एक काम की ओर जोशीली है तो दूसरी महत्वकांक्षी! एक के पास दूर-दर्शिता की समझ है तो दूसरे के पास काम की रणनीति तैयार करना और प्रक्रिया को आकार देने का अनुभव। हम एक-दूसरे को प्रेरित करते हैं।

हम कहानी कहने और सुनाने की कला और परिकल्पना / डिज़ाइन की परिवर्तनकारी शक्ति; और सूचना / संचार को सरल बनाने, अनुभव बांटने और इन सभी माध्यमों से लोगों को प्रेरित करने की क्षमता में विश्वास रखते हैं।

आप अक्सर हमें गहन वार्तालाप करते हुए, अपने विचार एक दूसरे से साँझा करते हुए और योजनाओं के बारे में चर्चा करते हुए पाएंगे।

जिन मुद्दों पर हम काम करते हैं उनके बारे में हम बहुत भावुक है और कोशिश करते हैं की पूरी ईमानदारी के साथ उन पर काम करें।

इस दुनिया में सभी अच्छी चीज़ों की तरह, टीनबुक के पीछे शक्ति है सभी के सहयोग की। सहयोग जो की हमें बच्चों से, किशोरों से, माता-पिता, परिजनों से और शिक्षकों से मिला है।

दो दस साल के बच्चों की माँ की दृष्टि और अनुभव से, हम दोनों को यह लगता है कि हमारी वर्तमान शिक्षा प्रणाली वह जानकारी, कौशल और समझ नहीं विकसित करती है, जो की बच्चों को अपने जीवन के कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए आवश्यक होगी। यह ऐसे मुद्दे है जो उनके जीवन के बाकी हिस्सों को बहुत प्रभावित करते हैं।

चाहे बात स्कूल में डरने-धमकाने की हो, तनाव की हो, प्रेम रुचि को लेकर ईर्ष्या की हो, माहवारी को लेकर कोई सवाल की हो या दोस्तों के दबाव देने पर और मज़ाक उड़ने पर कुछ करने की हो, सच यह है की हमारे बच्चों को असंख्य चुनौतियों का सामना हर रोज़ करना पड़ता है।अक्सर शिक्षा प्रणाली से बच्चों को इन सभी संघर्षों का सामना करने की और लड़ने की सीख और समझ नहीं मिलती। तो अब जब हमारे अपने बच्चे किशोरावस्था की दहलीज पर खड़े हैं, तो व्यावसायिक और व्यक्तिगत दोनों अनुभव से सीखकर हम लाये हैं आप सब के लिए – किशोर, किशोरी, माता, पिता, परिजन और शिक्षकों के लिए एक विस्तृत, तथ्यपूर्ण और सुरक्षित वेबसाइट – टीनबुक

टीनबुक में किशोरों, अभिभावकों और शिक्षकों के साथ मिलकर हम एक नई शुरुआत कर रहे हैं और इस यात्रा को लेकर हम बहुत उत्साहित हैं। हम एक-दूसरे से सीखने के लिए आतुर हैं और आशा करते है की साथ मिलकर हम किशोरों को एक स्वस्थ, खुशहाल और आत्मविश्वासी जीवन की प्रेरणा दे पाएंगे।

हम दोनों पत्रकारिता और महिलाओं एवं बच्चों के विकास के मुद्दों पर पिछले 18 साल से कार्यरत हैं। हमारे बारें में और जानने के लिए हमारे Linkedin प्रोफाइल्स यहाँ चेक करें – आरती और वीथिका।

सबसे लोकप्रिय

टैग

#AskDisha #canteentalk exam pressure safety stress teamwork अच्छे दोस्त चुन आकर्षण एंग्जायटी कमिंग आउट कहानीमेंटविस किशोर लड़कों का शरीर किशोरावस्था कैंटीन टॉक क्रश गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड बनाने का दबाव जीवन हमेशा के लिए बदलने वाल टीनएज लव टीनएज वाला प्यार ट्रांसजेंडर डाइवोर डिप्रेशन तनाव दबाव दिशा से पूछें परीक पहली किस का दबाव #एक्सपर्टसेपूछें पीरियड्स प्यार प्यार में धोखा प्रेशर बुलइंग मम्मी-पापा अलग हो रहे ह मम्मी-पापा का डाइवोर मेरे बॉयफ्रेंड ने मुझे चीट किआ यौन उत्पीड़न यौन शिक्षा यौनिकता शिक्षक यौवन लड़कियों को अकेले बाहर जाने की अनुमति क्यों नहीं दी जाती ह लड़कों और लड़कियों के बीच अलग-अलग व्यवहार किया जाता ह लड़कों के साथ अलग-अलग व्यवहार क्यों किया जाता ह लड़कों को हर तरह से मजा क्यों करना चाहिए सभी दोस्तों की गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड ख़राब मूड