फीलिंग्स एक्सप्रेस

‘फीलिंग्स एक्सप्रेस’ भावनाओं की वो सुपरफास्ट ट्रेन है जहां खुशी, उदासी, क्रोध, उत्तेजना और भय - सभी तरह की कहानियां यात्रा पर हैं। आईये आप भी चढ़ जाईये और अपना अनुभव साझा करिये।

स्नेहा क्लास 11 के लिए अपने सब्जेक्ट्स चुनते समय बहुत तनाव महसूस कर रही थी। उसने अपना निर्णय गलत कारणों की वजह से लिया और बाद में...

मैं बहुत कन्फ्यूज्ड थी!

मानवी (16) को फैंसी कपड़े पसंद नहीं हैं और वह स्टाइल से ज़्यादा आराम पसंद करती है। लोग उसे 'टॉमबॉय' कहते हैं - ये उसे बहुत परेशान करता...

‘स्टाइल से ऊपर कम्फर्ट’

एक छोटे से गांव से बड़े शहर , वह भी मुंबई में, आ कर पढ़ना एक बहुत बड़ा चेंज है।अजय के साथ कुछ यही हुआ। टीनबुक का यह आर्टिकल पड़ें।

'मुझे इस्तेमाल किया गया’

क्या आप डरते हैं कि अल्कोहल नहीं पीने की वजह से आप का मज़ाक उड़ाया जाएगा? डरें नहीं, टीनबुक के इस लेख को पढ़ें।

‘मुझे लगा की शायद मैं कूल नहीं हूँ... '

कोई आपसे दोस्ती करता है और आप दोनों एक अच्छे रिश्ते में हैं। बाद में आपको एहसास होता है कि यह सब उसके लिए एक शर्त थी। आपको बुरा लगता...

 ‘मुझे लगा मैं बेवकूफ़ हूँ!’

क्या आप सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के लिए हमेशा तनाव और दबाव में रहते हैं क्योंकि आपके दोस्त बहुत वहां बहुत एक्टिव हैं? इस स्थिति को...

‘मैंने अपना इंस्टा अकाउंट बंद कर दिया’

क्या आपके दोस्त आपको अनदेखा कर रहे हैं? आपको बुरा लग रहा है पर आप समझ नहीं पा रहे कि ऐसा क्यों हो रहा है। टीनबुक का यह आर्टिकल आपकी...

'मैं अकेला महसूस कर रही थी'

17 साल की दीक्षा हमेशा अपने स्कूल में सबसे पॉपुलर ग्रुप का हिस्सा बनना चाहती थी। इसलिए उनके कहने पर उसने सिगरेट पीनी शुरू की और उसे...

'मैं बहुत डिस्टर्बड थी'

रिद्धिमा (13), एक खुशनुमा, मस्त मौला लड़की हुआ करती थी जो सहपाठियों की बुलइंग का शिकार हो गई। इसने उसके आत्मविश्वास को कम कर दिया।...

'मुझे अच्छा नहीं लग रहा है'

This site uses cookies. By continuing to browse the site you are agreeing to our use of cookies Find out more here