बजट: ये क्या बला हैं!

By: Umeza Peera

आप सभी ने अपने घर में पिछले हफ्ते बजट के बारे में सबको बात करते हुए या इसके बारे में टीवी पर खबरें देखी होंगी। लेकिन कभी सोचा है कि बजट होता क्या है?और हम टीनएजर्स से इसका कुछ लेना-देना है या नहीं? आइए आपको इस पर कुछ ज्ञान देते हैं!

बजट क्या होता है?

बजट क्या होता है?

पहले, आइए समझते हैं कि बजट होता क्या है। हर घर में खाने, बिजली, कपड़ों, पानी, पेट्रोल - जैसे कई ज़रूरतों पर पैसे खर्च होते हैं। इसके साथ ही घर की एक फिक्स्ड कमाई होती हैं जो हमारे माता पिता के काम से आती है। अब सारे खर्चों का अनुमान लगाकर कमाई को सही तरीके से खर्चों पर बाँटने को बजट कहते है। इसी तरह से हर देश का भी एक बजट होता है।

हमारे देश की वित्त मंत्री (वर्तमान में निर्मला सीतारमण) एक निश्चित धनराशि निर्धारित करती हैं, जो सड़कों के निर्माण, शिक्षा में सुधार, स्वास्थ्य सेवाओं, बाल कल्याण आदि जैसी अलग अलग चीज़ों पर खर्च की जाएगी। यह सरकार द्वारा संसद में पहली बार 1 फरवरी को प्रस्तुत किया जाता है जिससे 1 अप्रैल, आर्थिक साल की शुरुआत, से पहले इस पर सहमति हो जाए। हाँ 1 अप्रैल सिर्फ मूर्ख दिवस (अप्रैल फूल) नहीं होता! यह एक नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत भी है।

बजट की आवश्यकता 

बजट से हमें अपने पैसे मैनेज करने में मदद मिलती है। हमें तय करते हैं कि हमारे पास कितना पैसा है और उसमे से कितना हम अपनी ज़रूरी चीज़ों पर खर्च कर सकते हैं। इसी तरह, नेशनल बजट सरकार की मदद करता है की वो देश के पैसे को किन चीज़ों पर खर्च करें जिनसे हमारे देश का विकास हो।

बच्चों के लिए अच्छी खबर

बजट सिर्फ बड़ों के लिए नहीं है, भले ही वो हमेशा इसके बारे में बात करते हो!

इस बजट में बच्चों के लिए भी कई योजनाओं और नीतियों की घोषणा की गई थी। जिनमे से कुछ हमने आपके लिए नीचे लिखी हैं!

  1. राष्ट्रीय पोषण मिशन का बजट 2019-20 में 3,400 करोड़ से 2020-21 में 3,700 करोड़ रुपये कर दिया गया है। इसका मतलब है कि अधिक से अधिक बच्चों को सरकारी स्कूल और आंगनवाड़ियों में दिन का खाना मिलेगा। अच्छा है ना!
  2. राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) के तहत 15,000 से अधिक स्कूलों में सुधार किया जाएगा। बेहतर स्कूलों का मतलब है बेहतर शिक्षा! बच्चे लोग बहुत खुश हुए!
  3. गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ), निजी स्कूलों और राज्यों के सहयोग से, 100 नए सैनिक स्कूल बनाए जाएँगे। इसक लिए उनको हमारा सैल्यूट!!
  4. हमारी सबसे नई यूनियन टेरिटरी लद्दाख को अी यूनिवर्सिटी मिलने वाली है। यह लेह में बनाई जाएगी। कितनी कूल होगी वादियों में ये यूनिवर्सिटी! 
  5. आदिवासी कषेत्रों में 750 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय स्थापित किए जाएँगे। इसमें हर स्कूल के लिए दी गई धनराशि 20 करोड़ से बढ़ाकर 38 करोड़ रुपये  (और पहाड़ी क्षेत्रों के लिए 48 करोड़ रुपये) कर दी गयी है। इस कदम का लक्ष्य आदिवासी छात्रों के लिए एक मज़बूत इंफ्रास्ट्रक्चर बनाना है। और हम इससे पूरी तरह सहमत हैं।
  6. 4 करोड़ अनुसूचित जाति के छात्रों के कल्याण के लिए पोस्ट-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना को अपडेट किया जाएगा। 6 वर्षों की अवधि में, INR 35,219 करोड़ का निवेश किया जाएगा, 2025-26 तक। एक नई छात्रवृत्ति! इसका तो हमेशा स्वागत है!

सरकार ने हमारे विकास के लिए कुछ अंतरराष्ट्रीय सहयोगों की भी घोषणा की है। 

  1. युएइ की एक योजना जिसमे प्रोफेशनल स्किल, परीक्षाएँ और प्रमाण पत्र दिए जायेंगे और उनमे से प्रमाणित छात्रों को आगे भी भेजा जाएगा। हम भारतीय यूएई को अपना शोक्रान (धन्यवाद) भेजते हैं!
  2. जापान के व्यापार, पढ़ाई, तकनीक और विशेषज्ञता से संबंध बढ़ाने के लिए भारत और जापान के बीच जुड़ा हुआ एक इंटर-ट्रेनिंग प्रोग्राम। ये हैं एकदम ओडोरोकू बकारी - जापानी में बोले तो एकदम बढ़िया है!

अगर आपको न्यूज़ सेक्शन में मज़ा आया हो तो हमें बताएँ। नीचे कमेंट बॉक्स में हमारे साथ शेयर करे। याद रखे कोई भी अपशब्द या अपनी पर्सनल जानकारी कमेंट बॉक्स में ना डालें। 

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0